विप्रलम्भ भाग-1

Dr. Madhavi Srivastava

विप्रलम्भ भाग-1
(57)
पाठक संख्या − 21482
पढ़िए

सारांश

राम सिर उठा कर उसे देखता है तो एक साँवली-सी लड़की जिसने आसमानी रंग का दुपट्टा ओढ़ा हुआ है... उसकी आंखे काफी बड़ी-बड़ी है...उसकी थकी हुई पलके ऐसी लग रही है जैसे कमल की पंखुड़िया हो जो सुबह की रोशनी पड़ने पर अलसाई हुई सी लगती है
Pooja Sharma
Wow so beautiful story
रिप्लाय
Sagar Verma
nice
रिप्लाय
Archana Khare
बहुत रहस्यमय और रोमांचक कहानी है, आगे का भाग पढ़ने की जिज्ञासा बनी हुई है।
रिप्लाय
krishna kumar
very nice
रिप्लाय
Lata Yadav
very nice
रिप्लाय
Dinesh kumar
very nice
रिप्लाय
Ruchi Sumit Agrawal
y bhag 4 tk hi h kya age k parts ni mil rha h
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.