"लोमड़ी नहीं शेर बनो"

मंजीत कुमार

(13)
पाठक संख्या − 195
पढ़िए

सारांश

मनुष्य को चाहिए कि वह जीवन में संघर्ष करे, मेहनत करे तथा कमाकर लाये, भरपेट भोजन करे तथा पास-पड़ोस के असमर्थ लोगों को भी खिलाये।
Kanhaiya Joy
Veri Nice story
रिप्लाय
Manjeet Kumar
Khani se hme sikh milti hai ki hme sher ki jindagi jini chahiye
रिप्लाय
suman saini
nice
रिप्लाय
Bullo Bullo
Nice
रिप्लाय
Arvind Gupta
nice
रिप्लाय
Vijaykant Verma
वाह! बहुत ही खूबसूरत कहानी..💐💐
रिप्लाय
Rajendra Kumar Shastri 'Guru'
अच्छी कहानी है। वैसे आपके अनुसार हमें शेर बनके जीना चाहिए।
रिप्लाय
Mukesh Duhan
बहुत ही अच्छी जी
रिप्लाय
RAJESH KUMAR SAINI
अच्छी कहानी लिखी आपने!!
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.