लेख

Rajesh kumar sharma purohit

लेख
पाठक संख्या − 2
पढ़िए

सारांश

लेख योग का वास्तविक अर्थ ******************** - राजेश कुमार शर्मा"पुरोहित" योगाचार्य ,कवि,साहित्यकार श्रोतादि इन्द्रियों को रूप,रस, शब्दादि विषयों से समेटकर मन को प्रकृति से परे  परम तत्व परमात्मा की ...
रचना पर कोई टिप्पणी नहीं है
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.