लाल चुटकी

विजय

लाल चुटकी
(27)
पाठक संख्या − 6015
पढ़िए

सारांश

सरिता को होश आया, तो वह बड़बड़ा रही थी, ‘आज तो मेरी शादी है । राहुल मेरी माँग में लाल चुटकी सिंदूर भरेगा ।’
Amit Gour
very nice story short
Rekha Raj Tolambiya
बहुत सुंदर रचना हैं..।
subhash panchal
अति सुंदर कविता के माध्यम से एक सार्थिक संदेश देने का प्रयास किया है जी
रिप्लाय
Anil Panchal
Very nice
रिप्लाय
Sunita Namdeo
bahut hi pyari kahani
डॉ. मनीष गुप्ता
nice story, meri kahani tejab ke chheente ek bar jarur padhen
Ragini Singh
Awesome
रिप्लाय
manjuyadav
Wah bhut he achhi or pyari kahani hai.
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.