लफ्ज

शुभेन्द्र सिंह

लफ्ज
(17)
पाठक संख्या − 824
पढ़िए

सारांश

जब दिल का दर्द अपनी हद पार कर जाता है, तो अक्सर वो पन्नो पर आ जाता है ...........
Anurag Chaturvedi
adbhut ⭐ ⭐⭐⭐⭐ aap meri nyi rachna alfaj per apni partikriya de
Ujjwal Singh
बहुत खूब सजाया आप्ने लब्जो को चन्द शब्दो मे, काश कि उन्हें भी ये पढ़ना आ जाता, मुक्कमल हो जाती आप्की हर ख्वाइसे, अगर उन्हे आपका दिदार करना आ जाता.
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.