रुत

प्रज्ञा तिवारी

रुत
(190)
पाठक संख्या − 43431
पढ़िए

सारांश

रुत को शादी करने का बड़ा शौक था। दसवीं पास कर लिया था और अब शादी का सपना सवार हो गया था।रुत उन लड़कियों में से थी जिसे गुड़िया खेलना और घर-घर खेलना सबसे अधिक भाता था। घर-घर खेलने में मानो वो अपनी खुद की
Dev Tiwari
बहुत सुंदर रचना👌👌
सरोज
heart touching story 👍 👍
Pooja Arora
hearttouching story
Amit soam
अच्छी कहानी है
SHRUTI DUBEY
it made me speechless.. 🙏
Sumedh Wakekar
बहुत बढ़िया
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.