रणछोड़

Kavi Kaushik

रणछोड़
(1)
पाठक संख्या − 10
पढ़िए

सारांश

लिव-इन रिलेशनशिप
Vimal sid
ओह...मार्मिक और हृदयस्पर्शी,, कुछ सवाल छोड़ कर जाती एक उम्दा रचना ।। बहुत ही सशक्त व यथार्थ परक लिखा है आपने । एक पढने योग्य लघुकथा .... बधाईयाँ 👌👌
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.