रंग कानून के

Kavi Kaushik

रंग कानून के
(2)
पाठक संख्या − 30
पढ़िए

सारांश

संविधान ने प्रत्येक व्यक्ति को कुछ मौलिक अधिकार प्रदान किये हैं। ये अधिकार ऐसे हैं जो व्यक्ति के सम्यक बौद्धिक व व्यक्तिगत विकास के लिए अपरिहार्य है। संविधान में व्यक्ति के समान अधिकार की अवधारणा "विधि के समक्ष समानता व विधियों के समान संरक्षण"की व्यवस्था है परन्तु क्या ये अधिकार जमीनी स्तर पर लागू है?
डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
बहुत बढ़िया
रिप्लाय
प्रभात पटेल
अच्छा है
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.