"यादों के सहारे"

शहला अंस।री

(179)
पाठक संख्या − 4598
पढ़िए

सारांश

कुछ प्रेम कहानियां अधूरी रह जाती हैं
ANUPMA TIWARI
हो सकता है किसी को ये सही कदम लगे। पर मेरी नजर में गलत है। प्यार, कमी के बावजूद कायम रहता है। अविनाश की यह कोई शारीरिक रूप से कमजोरी नही थी यह उसका गर्व है कि देश सेवा में उसने अपना देह कुर्बान कर दिया। मैं सकारात्मक परिणाम में विश्वास करती हूं।
Manisha Sharma
Di kya ye real story h
रिप्लाय
Sudha Solanki
ek baat khu real love krne walo kbhi koi kmi nhi dikhti hai end achha nhi lga mujhe
Sandeep Mishra
ह्रदय स्पर्शी रचना
Sp Verma
Wonderful... keep on writing good stories... congratulations...
Rupa Garg
kya wastav m pyar sharirik bandano pr hota h ager shadi ke bad asa ho to
रिप्लाय
Shradha Singh
avinash ne achhha nhi kiya. use sb bta dena chahye tha ....
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.