यादों का जेठ

श्याम झा

यादों का जेठ
(11)
पाठक संख्या − 1074
पढ़िए

सारांश

जेठ का माह अभी एक पक्ष दूर था लेकिन चिलचिलाती धुप से मानो ये धरती कपोला भट्टी में परिवर्तित हो गयी हो हर जगह सिर्फ तपस, आग की बरखा, फाइनल सेमिस्टर का परीक्षा भी सर पे तांडव करने के लिए अपनी सभी कलाओं ...
Vinita Thakur
बहुत बढ़िया
निजा
जेठ माह का प्यार बखूबी से आपने प्रस्तुत किया है. और भी आपसे उम्मीद है.
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.