मौन स्वीकृति

पाली कौर

मौन स्वीकृति
(304)
पाठक संख्या − 31187
पढ़िए
Ritu Singh
ye pyar nahi kuch aur h, eaisa person kisi k sath vafadar nahi ho sakata, aacha h alag hona,pr saja ke baad kyonki do ghar bigde h is neech harkat se.
श्वेता सिन्हा
nice, but apna hak kisi ko yun nahi dena chahiye dono ko saja dete hue aage badna chahiye
विकास तिवारी
अच्छी तरह से गुंथी हुई कहानी
Sunita Namdeo
bahut pyari story h but akhir kyo film ki copy h
seema pal
वाह क्या खूब लिखा है acha जवाब दिया और एहसास दिला दिया कि ओरत किसी के साथ ना देना पर भी जीवन यापन कर सकती हैं बहुत अच्छी स्टोरी
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.