मोबाइल महात्म्य

डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा

मोबाइल महात्म्य
(220)
पाठक संख्या − 12910
पढ़िए

सारांश

मोबाइल फोन के दुष्प्रभावों को व्यंग्यात्मक रूप में प्रस्तुत करती कहानी
Sonika Shukla
मोबाइल असल में एक मर्ज बन चुका है जिसने किसी को नहीं छोड़ा है। 😊 बहुत खूब 👌👌🙏
रिप्लाय
Mr.Nk Pandey
bahut hi Sundar lekh hai
रिप्लाय
Kamini Dargan
very true story....
रिप्लाय
VINEETA CHAUHAN
very nice ji
रिप्लाय
आईदान सिंह
शानदार।यह बिमारी तो सभी में है।
रिप्लाय
Chandra Shekhar Prasad
very good
रिप्लाय
sushma gupta
लाजवाब 👌👌👌👌👌👌👌👌
रिप्लाय
Mukesh Verma
अति सुन्दर व्यंग्य।आधुनिक mobile पर ही नहीं उसके विक्रेताओं पर भी।key pad बाले मोबाइल अच्छे हैं पर यह android mobile न होता तो आपकी रचना कैसे पढ़ता। धन्यवाद। आपको आपकी रचना के लिये।
रिप्लाय
Puja Thakur
बहुत सुंदर कहानी 👌 👌 👌
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.