मोटी कहीं की

Kavita Nagar

मोटी कहीं की
(24)
पाठक संख्या − 6202
पढ़िए

सारांश

पति दुबला पतला और लक्ष्मी मोटी हो गई, आफत हो गई बेचारी की।
शिल्पी रस्तोगी
बहुत खूब ..
रिप्लाय
Hanish Madaan
बहुत ही अच्छा लिखा है जी , गज़ब
रिप्लाय
इरा उपाध्याय
बहुत ही खूबसूरत अंदाज़ मे लिखी कहानी|बहुत बधाई
रिप्लाय
अनुराग
एक बहुत बढिया व्यंगात्मक कहानी है ये😂👍
रिप्लाय
Kavita Bisht
Haha.... पतली बहू को भी यही सब सुनना पड़ता है 😂
रिप्लाय
हितेन्द्र सिंह धाकड़
sorry ma'am ,but aap mote h kya
रिप्लाय
Priyanka Awasthi
Behtareen
रिप्लाय
Noopur Awasthi
Matlab h to bs mota hona gunah nhi varna to abhishap
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.