मोटा महराज

Vishnu Jaipuria

मोटा महराज
(7)
पाठक संख्या − 194
पढ़िए

सारांश

बचपन से देखता आया था, जब भी वो रोटी बेलता तो उसका घड़े जैसा मोटा पेट ऐसे हिलता जैसे भाड़ में पड़े चने फुदक रहे हो, वो रोटी को बिना उठाये ही बेलन से गोल कर देता, उसी अनुपात में उसका मोटा और गोल पेट रोटी ...
Yakoob Khan
बढ़िया कहानी है। थोड़ा और इंटरटेनिंग होना चाहिए था।
Nawal Kishore Singh
बहुत बढ़िया
reena Kaithwas
Nice Story.. mjedaar the.
madhulika mishra
badi mazedar hai
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.