मैं शमशान हूँ भाग -3

Shivraj Singh Rana

मैं शमशान हूँ भाग -3
(45)
पाठक संख्या − 1096
पढ़िए

सारांश

श्रीनिवास ने उस व्यक्ति के पास जाने की कोशिस की और एक दम नजदीक जाकर एक दीवाल से चिपके हुए, श्रीनिवास ने उसे देखा और उसके पैरों तले जमीन खिसक गई , क्रोध का ऐसा तूफ़ान उसके दिल मे पैदा हुआ । ये तो मोहन ...
anupam kumar
क्या..... जो अंदेशा था वही हुआ, बहुत दुःखद...
रिप्लाय
Santosh Bharti
बहुत बढ़िया कहानी जा रही है वेरी गुड सर्
Asha Shukla
कहानी रोमांचक मोड़ पर जा रही है!!!👌👌👌💐💐💐
प्रगति सिंह
बेहद बढ़िया कहानी 👌
Deepak Valvani
aapki kahani muje bohot hi achhi lagi,aage ke bagka intzar rahega."D"
komal
waiting for the next part...
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.