मैं,तुम और कॉफ़ी

अंश

मैं,तुम और कॉफ़ी
(401)
पाठक संख्या − 18298
पढ़िए

सारांश

नंदिनी सोच में पड़ गयी, पिछले कई दिनों से लड़के या तो नंदिनी से दूर ही रहते थे या कुछ देर के लिए मिलते भी तो कुछ ज्यादा ही व्यवहारिक तरीके से पेश आते थे l आकाश क्यूंकि अभी नया-नया आया था तो शायद उसे इस बारे में पता न हो और इसलिए वो काफी straightforward सा लग रहा था .. स्टोरी क्रेडिट: मुख़्तसर इनके फेसबुक पेज पर हर प्रकार के जुमले,शेर,ख़बर,चुटकुले आदि उचित मात्रा में उपलब्ध हैं l www.facebook.com/Mukhtassar/
Afreen Sheikh
next part kab aayenga
Think about it
waiting for next part
Rishabh Dev
nice story but i'm also waiting for next part
Damyanti Singh
nice story dear but uncomplicated... must wait for next..
Hemeshwar Sandhya
awesome story👌👌👌👌
Yashsvi Mehra
I can't wait plz next part jldi s jldi publish kijiye.
सौरभ राजकुमार
when available next nd complete part...????
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.