मेरे पति का हत्यारा-1

अनिल गर्ग

मेरे पति का हत्यारा-1
(48)
पाठक संख्या − 2930
पढ़िए

सारांश

जब एक विधवा का उसके पति से सामना होता है
कुलदीप सिंह हुडडा
आपकी इस कहानी ने वेद प्रकाश शर्मा की लेखनी याद दिला दी..जबरदस्त लिखा है आपने..शुरू से अंत तक दिलचस्पी बरकरार रहती है..
रिप्लाय
Rachana Wadekar
good manoranjak hai dekhte hai agey kya hota hai.
रिप्लाय
Ravi Kashyap Rajandar Kashysp
Nice starting
रिप्लाय
Neetu Sammi
nice starting...
रिप्लाय
Asmi Srivastava
nice
रिप्लाय
Kamal Kant Agarwal
ओसम।जस्ट ओसम लिखा है आपने सर।
रिप्लाय
काव्याक्षरा
कितना आकर्षक और उत्साहित करने वाला आरंभ👏👏👏😁
रिप्लाय
Asha Neha
story to super mysterious hai sir aur usoe apka next part ka intjar karana suspense ko aur badha deta hai
रिप्लाय
vidit singh
Gajab ka suspense aur kamal ka flow hota hai aapki kahani main. Apke chune hue chuninda sabd kahani ko aur bhi jada dam dete hain.
रिप्लाय
Madhu Veer
suspence hi bahut Story mi
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.