मेरी प्रेम कहानी

अरुण गौड़

मेरी प्रेम कहानी
(678)
पाठक संख्या − 80081
पढ़िए

सारांश

..सफलता के घोडे पर सवार व्यक्ती बिना कुछ सोचे आगे बढता रहता है लेकिन असफल व्यक्ति अपने हर कदम, हर एक कमी की छानबीन करता है। मै भी असफलता का झंडा उठाये हुए था अत मैने भी अपने जीवन मे गर्लफ्रेडं के आकाल पर काफी रिर्सच किया और उसके नतीजे मे पाया की लडकियो के मामले मे अपने सूखेपन के बहुत से कारणो मे से एक कारण मै भी था, या कहे की सबसे बडा कारण मै स्वंय था। जब भी मै किसी लडकी को देखकर उसे ट्राई करता, उससे पींगे बढाने की कोशिश करता और मेरी उस कोशिश के बीच वहाँ मेरा कोई दोस्त आकर अपनी टाँग अडा देता तो मै उससे कोइ प्रतिद्वन्दता नही करता क्योकी मुझमे लडकियो के मामले मे उससे टकराने की हिम्मत ही नही थी। इसलिये मै स्वयं अपने आप को आउट मान लेता और रिटार्यट हर्ट होकर दोस्ती का फर्ज निभाते हुए मैदान अपने दोस्त के लिये खाली कर देता। ऐसा करने से दुख तो होता था लेकिन ज्यादा दर्द तब होता जब मेरा दोस्त उस लडकी को सफलतापूर्वक अपना मोबाइल नम्बर देकर मैदान जीत जाता था........
Diwakar Singh
Achhi kahaniya padhane ka awsar milta है
आयुषी सिंह
😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂😂 accha h is kahani se girlfriend mangne walo ki aankhe khul jaayengi..... aapki sbhi kahaniya acchi hoti hain lekin chhlawa best h
रिप्लाय
Manisha Giri
kmal ki story likhi h. sach bolu to hste hste pet me drd ho gya. itna funny phli bar pdha. kitne achhe se apne hr vichar or prem me asfal ldke ke drd ko likha h wo bhi itna funny. hsi ko control kaise kiya jata h ye bhi btaye to mehrbani hogi apki. kyoki mera to hsne pr control hi nhi rha 😅😅😅😅😅 bhut bhut achha likhte ho ap 👌👌👌👌
रिप्लाय
Pooja Arora
v.nice ☺☺☺👌👌
रिप्लाय
tanushree dash
nice story 😀😀
रिप्लाय
ritik sharma
ye schi khani thi kya ... jo h jaisi h achi h dil se chaho or vaise bhi pyar to shadi k bad hi hota h phle to bchpna hota h .....
रिप्लाय
Vishnu khinchi
बहुत अच्छा लिखा अरुण जी आपने कहानी शुरू से अंत तक बांधे रखने वाली थी शब्दों का अच्छे से इस्तेमाल व घटनाओं को इतनी रोचकता के साथ प्रस्तुत करना बहुत बढ़िया लगा कहानी में ऐसी कई घटनाएं है जो चहरे पर मुस्कान ला देती हैं
रिप्लाय
manish sharma
Bhai waah
रिप्लाय
PRIYANKA GANGWAL
nice story.
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.