मेरी खुशी तुमसे है - भाग 1

लेखा चौधरी

मेरी खुशी तुमसे है - भाग 1
(284)
पाठक संख्या − 30916
पढ़िए

सारांश

एक ज़िंदादिल लड़की की कहानी जिससे उसका प्यार छीन लिया जाता है । उसे उसका प्यार वापस मिलता है या नही .. उसके लिए वो किस हद तक जाती है ,उसके जुनून की इंतहा लिखने की कोशिश की है ।
siddhi Vashishtha
jabatdast
रिप्लाय
Khushi Sharma
I really love this story. 😘😘😘 I 🌹🌹🌹🌹🥀🥀
रिप्लाय
Rajeev Dwivedi
बढ़िया कहानी
रिप्लाय
Ramjiyavan Gupta
very nice story
रिप्लाय
Kamal Kant Agarwal
सुंदर कहानी। सच्चाई लव रही है। शब्दों को अच्छे भावों के साथ प्रयुक्त किया है।
रिप्लाय
Hemant MOdh
आज की युवा पीढ़ी पीढ़ी का बहुत ही रोचक तरीके से सही चित्रण किया है, अपनी कहानी में आपने गतिशीलता बनाए रखी है, इसलिए पाठकों को लगातार पढ़ना बोझ नहीं लगता। रुचिकर लेखन के साथ ही पाठकों की पसंद का आप पूरा ख्याल रखती हैं। हार्दिक शुभकामनाएं और बहुत बहुत बधाई... "प्यार का एहसास" पढ़िएगा, प्रतिक्रिया के इन्तजार में... Hemant Modh "इन्दोरी लाल" filmvisualizer@gmail.com www.forfilmsindore.com
रिप्लाय
Dipa Soni
bhot pyari story he.....sweet si
रिप्लाय
Anuj Kumar
Nice
रिप्लाय
Kavita Saini
very nice
रिप्लाय
Archana Khare
लेखा जी,आपके द्वारा लिखी कहानी बेहद दिल के करीब महसूस होती है।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.