मेरा पहला-पहला प्यार

Aishwaryada Mishra

मेरा पहला-पहला प्यार
(18)
पाठक संख्या − 703
पढ़िए

सारांश

ग्यारहवीं में थी जब पहली बार अंशु से मिली थी तभी से मुझे उससे प्यार हो गया था। कहते हैं न.. सच्चा प्यार तो वही है जो आसानी से ना मिले बस मैं भी अपने प्यार का इंतजार करने लगी। दस साल बाद ही सही मेरा इंतजार रंग लाया
sudhanshu Jha
very Nice
रिप्लाय
जुनैद वोहरा
so sweet end
रिप्लाय
Anshu Saxena
अल्हड़ प्यार को दर्शाती मनोरंजक रचना
रिप्लाय
Arya Jha
बेहद रोचक कथा
रिप्लाय
Mukul Mishra
मनोरंजक कहानी।
रिप्लाय
Tinni Shrivastava
वाह बहुत सुंदर कहानी
रिप्लाय
प्रगति त्रिपाठी
बहुत सुंदर रचना 👌
रिप्लाय
Manjula Dusi
वाह बहुत.ही अच्छे से कहानी को पिरोया गया है
रिप्लाय
Antima Singh
दिल को छू गयी
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.