मूव ऑन ... माई फुट

Sushma Gupta

मूव ऑन ... माई फुट
(62)
पाठक संख्या − 4175
पढ़िए

सारांश

"तुम यकीन नही करोगी पर कुछ दिन से मैं तुम्हें बेईंतहा याद कर रहा था ।" "अच्छा! " "तुम अचानक कैसे आ गई ?" "किसी काम से दिल्ली आई थी और इसी तरफ किसी से मिलना था । वो काम हुआ नही । फिर सोचा इतनी दूर आई ...
akansha
very interesting h . real story lgti h
Nancy Singh
khoobsurat kahani .. dil ko chuti hui
Deepak Chaudhry
अच्छा लगा
अलका रानी
वास्तविकता के काफी नज़दीक है... बहुत सुन्दर
Nisha Gandhi
घमंडी पुरुषत्तव
SACHIN SHEORAN
same story is going on here with myself
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.