मुझे तुम जरूर मिलोगी

मनमोहन गुप्ता मोनी

मुझे तुम जरूर मिलोगी
(161)
पाठक संख्या − 6683
पढ़िए

सारांश

बिंदू,मंजू और राहुल कालेज के समय के तीन दोस्त। तीस साल बाद जिंदगी के इस मोड़ पर इकट्ठे होते हैं। रिटायरमेंट के पास पहुंच कर जिंदगी की दुश्वारियों के साथ खुलासा होता है उनके प्यार का , तो क्या स्थितियां होती हैं। कुछ भी कहने की स्थिति में न होते भी बहुत कुछ कह डालते हैथ कहानी के पात्र।
shivani
superb story
रिप्लाय
Rinakshi Giri
Nice
रिप्लाय
Anjlee Sharma
Nice story
रिप्लाय
Kavita Pareta
जिंदगी की सच्चाई
रिप्लाय
H Faiyaz Faiyaz official
Dil chu liya
रिप्लाय
बहुत सुंदर लघु कथा
रिप्लाय
indira
nice story.....
रिप्लाय
Chhavi Gemini
nice one, reality of life
रिप्लाय
Rekha Sharma
wonderful story bt aage kyaa hua ????? btayega jrurr......
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.