मायावी गिनतियाँ - 23

जीशान जैदी

मायावी गिनतियाँ - 23
(13)
पाठक संख्या − 5408
पढ़िए

सारांश

कमरा अपनी गति से उड़ा जा रहा था या राक्षस उसे उड़ाये ले जा रहा था। लगभग एक घंटे तक उड़ने के बाद कमरा अचानक एक अँधेरी सुंरग में घुस गया। हालांकि सनी के लिये वहाँ पूरी तरह अँधेरा नहीं था क्योंकि राक्षस ...
Rocky Singh
जिशान भाई कहानी के अगले भाग जल्दी से प्रकाशित कीजिये
Rãūshañ Gupta
aadha kahani post karta h ...
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.