माँ नहीं मिलती दोबारा

सुरेखा शर्मा

माँ नहीं मिलती दोबारा
(136)
पाठक संख्या − 7717
पढ़िए

सारांश

मृत्यु का इंतजार मृत्यु से भी भयावह होता है, लेकिन इतनी जल्दी? 'ड्राइवर गाड़ी तेजी से चलाओ।' जबकि ड्राइवर अपनी ओर से गाड़ी भगा ले जा रहा था ।मुझे कुछ भी नही सूझ रहा था। दिल में दर्द की टीस -सी उठ ...
विनीत अग्रहरी
मेरी मां भी हमें छोड़ कर चलीं गईं जब मैं छोटा था। आज तक वह प्यार ढुंढता हूं परंतु मां की ममता कोई और नहीं दे सकता।😥😥
रिप्लाय
नैना साहू
बेहतरीन रचना
mahalaxmi jha
Maa ki jagah koi nahi le sakta hai.nice story
Neelam Bagri
marmik kahani kuch purane ghav hare ho gaye
Archana Varshney
बहुत सुंदर
Sheela Kumari
आपने हृदय द्रवित कर दिया आपका आभार🙏
yogesh karaiya
आपकी इस कृति के लिये में क्या लिखूं माँ तो माँ होती है बस ओर नही
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.