ममता

अनामिका शर्मा

ममता
(13)
पाठक संख्या − 173
पढ़िए
Pallavi Vinod
बहुत अच्छी कहानी अनामिका जी,वात्सल्य और ममत्व से परिपूर्ण
रिप्लाय
Ashish Chaurasia
bahut sundar 👌
रिप्लाय
Mahesh Babu Saraswat
ऐसी घटनाएं सत्य के करीब ही होती हैं, अभी हमारा समाज इस तथ्य को समझ नहीं रहा है कि लड़की नहीं होंगी तो तुम्हारा अस्तित्व ही खतरे में पड़ जाएगा ।कहा बहुत अच्छी लगी ।💐💐
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.