मजाक

Kumar durgesh Vikshipt *Vaishnav*

मजाक
(38)
पाठक संख्या − 155
पढ़िए

सारांश

सारी रात जाग कर फरियाद करता हूँ, बे-बस दिल से कुछ बात किया करता हूँ, वो महोब्बत करती है, ये सोचकर अपने आप से मजाक किया करता हूँ..... ...
Vijay Kumar Soni
वाह।
रिप्लाय
Pooja Verma
kamaal kr diya
रिप्लाय
Shristi Kr.
wah
रिप्लाय
अभिजीत सिंह मीनू
अच्छा कटाक्ष था।
रिप्लाय
shobhana tarun saxena
Benign 👌👌.. please do read my other stories too 🙏🙏🙏
रिप्लाय
Mohd Khan
lajawab
रिप्लाय
Vibhuti Desai
nice mari racna ghar par pratibhav aapva vinanti
रिप्लाय
sharad kumar
nice
रिप्लाय
Swarup Acharya
bahut hi Sundar..
रिप्लाय
dinesh kadam
waah...laajawaab
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.