मजबूरी

डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा

मजबूरी
(54)
पाठक संख्या − 1690
पढ़िए

सारांश

एक गरीब कृषि मजदूर की मजबूरी को दर्शाती लघुकथा...
Sonika Shukla
🙏👌👌👌
रिप्लाय
KARAN SANJU
ਪੰਜਾਬੀ ਭਾਸ਼ਾ ਦੇ ਵਿਚ ਵੀ ਸ਼ਮੂਲੀਅਤ ਕੀਤੀ ਜਾ ਸਕਦੀ ਹੈ
रिप्लाय
dilip ghadve
बहुत खुब!
रिप्लाय
Richa Singh
बढ़िया!
रिप्लाय
Mamta Pattanaik
,👌👌👌👌👌🙏🙏🙏
रिप्लाय
Rajan Mishra
खूबसूरत लेखन शैली के साथ एक खूबसूरत रचना है आपकी
रिप्लाय
😊
.😢😢😢
रिप्लाय
Krishna Khandelwal singla
बहोत खूबसूरत रचना है
रिप्लाय
Rupa Kirar Jamra
bahut hi Sundar rachana hai. thank you
रिप्लाय
आईदान सिंह
शानदार और यथार्थ कटाक्ष 👏👏
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.