मंगलसूत्र = मोबाइल

विनीत शर्मा

मंगलसूत्र = मोबाइल
(275)
पाठक संख्या − 4935
पढ़िए

सारांश

सपने देखते एक बाप की कहानी।
Chanda Kumari
more than five starred story
रिप्लाय
Manju Bhati
bahut hi Sundar Rachana
रिप्लाय
shani gupta
lekin sachchai to yahi hai na ki hope=Pain
रिप्लाय
Vimal Saxena
बहुत समय के बाद एक अच्छी कहानी पढ़ी, कथानक में पॉजिटिविटी होना ही इसको अत्यंत रोचक बनाता है इसके अतिरिक्त कथाक्रम की रफ्तार भी अत्यंत प्रशंसनीय है। लेखक को बधाई, काश, कोई अन्य बहुत से लेखकों को यह बता सके कि किसी कहानी का दुखांत कभी मनोरंजन नहीं करता बल्कि सिर्फ भावनाओं को उभारता है। भावनाओं के लिए हमारा जीवन सबसे सजीव कहानी है अतः कहानी को हल्का फुल्का ही रखना सच्चा मनोरंजन है।
रिप्लाय
kanika kasana
behtareen mujhe to rona aa gya letter ko pdhte time...
रिप्लाय
Geeta Ved
amazing story shandar
रिप्लाय
Hina Kureshi
bahut achi khahni hai mein khud kuch nhie kar saki par dil ki tamanna hai ki meri beti zindagi mein kuch kary kuch ban kar dikhain meri khahni lagti hai
Nandini singh
bahut hi sunder kahani
Ritika Sharma
wow...ldkio ke ppa bs yhi aake kmzor pd jate h jb wo apni psnd se shadi kre.sari achai sare sanskar sb khtm hojate h ldki ke.ab ky shi ky glt y m ni kh skti.sbki apni soch hoti h.bs dil choo lia apki khaani ne
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.