भूतिया बस - 5

Bhushan Patil

भूतिया बस - 5
(359)
पाठक संख्या − 14938
पढ़िए

सारांश

आधी रात हो गई थी। तीनो कार में बैठ उस रास्ते पे आ गए थे। उन्होंने महिला का वेश धारण कर लिया था....कार को रोक वो उस भूतिया बस के आने का इंतज़ार करने लगे....तभी बड़ी लाइट्स की रोशनी उनपे आके गिरी। वो ...
Seema Thakur
रामसे ब्रदर्स की सी ग्रेड फिल्मों से प्रेरित,,,,,,, वाहियात कहानी
रिप्लाय
Suryakant mishra
आपकी कहानी हमे बहुत पसंद आई मैं आशा करता हु की आप ऐसी कहानी हमलोगों के पास पहुचाते रहेंगे धन्यवाद
रिप्लाय
Neeraj Jain
Very good
रिप्लाय
Rajeev Kumar
mch gud
रिप्लाय
meethi
very nice
रिप्लाय
Neha Kumari
bhuat achi lagi aap ki ye khani
रिप्लाय
Ramcharan Sharma
bhut Acchi story h
रिप्लाय
Zoya Khan
Aise hi kahaniya likhte rho bhai god bless you...😊😊
रिप्लाय
Syed heena Zaidi
story bhot achhiii thi.lakin 1 cheez missing thi agar aap aus m mohan ki biwi aur beti ka bhi last m zikr krte.aur mohan bhi jail say bhar a jata.to thodi aur khusi ho jati.kyunki importent baat dr.vishwjeet sy milne ki mohan ne hi btyi thi.to last m auski wife aur beti k bhi bare m likh dete.ye mera sochna h.baki story achhiii thi.maine to sare hi part ek sath rear kiye.to jada hi maza aya😊😊😊😊😊😊
रिप्लाय
Kalpana Rawal
Nice Story
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.