बेटी

Chandni Sethi Kochar

बेटी
(64)
पाठक संख्या − 4813
पढ़िए

सारांश

एक बेटी के लिये उसकी माँ का समर्पण जो सिर्फ एक माँ ही कर सकती है। चाहे बेटी कितना भी गलत करे, पर माँ उसका साथ मरते दम तक देती है। आप सब के विचारो का इन्तज़ार रहेगा।
दीपक जांगिड़
samajik drasti se... nisabad 😶 par ik maa k liye ye gajab
ANUPMA TIWARI
चांदनी जी। आपने माँ के निर्णय से अचानक कहानी मे ट्विस्ट भर दिया
Suman Varma
apko mera salam ye kahani likhne k liye
Rajan Kumar
Sach h maa k kadmo me jannat hoti h
Meena Bhatt.
पूरी कहानी आखरी लाइन में ही टिकी थीं।शुभकामनाएं
Pramod Ranjan Kukreti
बहुत सुन्दर । आखिर तक सोच भी नही पाया कि ऐसा मोड़ देंगी।गजब।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.