बूढ़ा गिद्ध

अंजुलिका चावला

बूढ़ा गिद्ध
(121)
पाठक संख्या − 7601
पढ़िए

सारांश

गिद्ध जब बूढा हो जाता है तब वह अपने पंख खुद नोच कर निकाल देता है फिर ने पंख एते हैं और वह उड़ता है।
Sunita Jha
अभिशप्त जीवन एक नारी की????
Dr Pratibha Saxena
बहुत बढ़िया ,नायिका का निर्णय प्रशंसनीय है ।
Poonam Singh
bahut sakaratmak sandesh mahilao k liy
रिप्लाय
Geeta Jain
बहुत बढिया
रिप्लाय
neetu singh
बहुत सुंदर रचना
रिप्लाय
Aruna Anand
यथार्थ को दर्शाती एक ख़ूबसूरत रचना !
kulbirkaur
bilkul sahi . jab jaago tabhi sawera .
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.