बाल विवाह

Shalini Gupta

बाल विवाह
(26)
पाठक संख्या − 11204
पढ़िए
Ranjana Makhija
bahut बढ़िया
Seema Thakur
क्या है ये!!!!!! लेखक पहले तय तो कर लेता कि मुझे लिखना क्या है। बाल-विवाह की व्याख्या या उसके फायदे नुकसान।शुरू होने से पहले ही खत्म हो गई कथा,,,,,
पिनाकी सिंह
मैं आपके विचारों से सहमत हूं।
अंजान सागर
बाल विवाह हमारे भारतीय समाज का बहुत ही कटु सत्य है समाज के डर से लोग अपने ही बच्चों के साथ इतना कठोर निर्णय ले लेते हैं, परंतु इसके परिणाम बहुत ही भयावह भी हो सकते हैं कुल मिलाकर अगर देखा जाए तो माता पिता अपनी बेटियों की जिंदगी का सौदा कर देते हैं और इसकी कीमत सिर्फ इतनी है कि समाज के लोग उनके इस निर्णय से प्रसन्न होते हैं... "लोग क्या कहेंगे" इस सवाल ने न जाने कितने घर बर्बाद किये हैं...
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.