बस का सफर

शालिनी पंकज

बस का सफर
(7)
पाठक संख्या − 274
पढ़िए

सारांश

"बस का सफर" ★★★★★★ आज मैं अंतिम सीट में बैठी थी,जबकि पूरी बस खाली थी।पर सन्तुष्टि थी की आज का सफ़र ठीक से कटे।करीब 5 -10 मिनट में धीरे धीरे पूरी बस भर गई।ड्राइवर अपनी सीट में बैठा।और बस आगे बढ़ गयी।मैं ...
akhil aggarwal
aapne iski recording karke complaint q nhi ki??
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.