बलात्कार और माँ

अंकुर त्रिपाठी

बलात्कार और माँ
(19)
पाठक संख्या − 993
पढ़िए

सारांश

अब आवश्यकता है कि परिवार की एक महिला जो जन्म देती है और वह जो कि उस बच्चे कि माँ है , अपने बच्चे को बचपन से सेक्स के सबंध में इतना बता दे कि उसका शरीर किसी और बेटी को न नोचे .... जरुरत है वह माँ अपने बच्चे को उन संवेदनशील अंगो के बारे में भी बताये जिन अंगो को ढके होने के बाबजूद भी उसमे कामुकता और उत्तेजना आ जाती है ! जरुरत है वह उसको बचपन से उन अंगो का स्पर्श करा दें जिनसे उसका जन्म हुआ और उसने जिनको ग्रहण कर अपने बाल्यकाल कि भूख मिटाई .... उसकी भूख इस कदर मिटा दी जाए कि वो राह चलते और किसी बेटी को घूर कर देखने से पहले प्रथम ख्याल अपनी माँ का करें कि यह वही है जो मैं बचपन से देखता आ रहा हूँ !!
Rohit Paikra
माँ बाप ही बच्चो को मार्गदर्शन दे सकता है
Vipul Singh
Bahut hi behatrin soch hai sir.
OM Arya
👍👍👍👌👌👌
Geetika rao
kafi positive and brave step h ,good
रिप्लाय
Anju Chouhan
बहुत गहरी सोच है
Ranjana Singh
अच्छा सुझाव है
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.