बलात्कारी शादियां

अजितेश आर्य

बलात्कारी शादियां
(241)
पाठक संख्या − 18590
पढ़िए

सारांश

मिलिए समाज के उन चार लोगों से जिन्होंने सच्चे प्यार का गला घोंटा और बलात्कारी शादियां करवाते रहे।
Kunj Dutta
bahut bahut bahut acchi ..
Mamta Upadhyay
वाह बहुत खूबसूरत स्टोरी
Aman Arora
this usually happens in our society.
Neelu Goel
very nice.... heart touching
Divana dipak Dildar
kya khub kaha aapney May bahut taajjub haqeeqat ke sath sath kadvi sachai bhi hai
Anita S. Dubey
आपकी कहानी में केवल समाज के चार लोग नहीं जीतू और नीति भी जिम्मेदार हैं ।शादी के बाद आपस में लड़ने से बेहतर समाज से लड़ना होता। आखरी निर्णय तो दोनों ने ही लिया था। अब आपस में लड़ने से बेहतर आपसी तालमेल व समझ से जीवन बिताना चाहिए।
Krishna Khandelwal singla
बहोत ज़बर्दस्त कहानी
ravinder agarwal
बहुत ही भव्य चित्रांकन
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.