बरसात में खौफ

इरा टाक

बरसात में खौफ
(208)
पाठक संख्या − 11758
पढ़िए

सारांश

बच्चे खेलने लगते हैं, पति घर के कोने में बनी बार से शराब पीने लगता है और औरत फ्रिज में खाने का सामान ढूढने को जैसे ही उसका दरवाज़ा खोलती है , जोर से चीख पड़ती है। फ्रिज में कटे हुए सिर, हाथ पैर रखे हुए थे। निशा वहीँ पहुँच गयी थी जैसे ! एकदम उसने तेज़ ब्रेक लगाया।
nidhi Bansal
क्या ऐसा सचमुच होता है
Apurv Sharma
Bhut hi saandaar khani hai aapki khani bhut hi saandaar hai ese hi likte rahiye
Deep Sidhu
ye baat
रिप्लाय
zimi jay
sahi hai boss girls ke saath Aisa hei hona chaiye
Manoj Tank
मस्त कहानी
Satyam Mishra
अत्यंत भयवाह कहानी
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.