बँधन

Age

बँधन
(6)
पाठक संख्या − 33
पढ़िए

सारांश

बँधन तो बँधन.है दैहिक हो या आत्मिक सँबधो का हो या नातो का प्रेम का हो या घृणा का भोग का हो या त्याग का पाप का हो या पुण्य का अनुराग का हो या विराग का जीवन का हो या मृत्यु का अमरत्व का हो या हो मोक्ष ...
Ravi Jangid
sir गजब रचना है👌👌👌👌
रिप्लाय
Aditi Tandon
और अच्छा बंधन वो जो ईश्वर के साथ हो 🙏🙏🙏
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.