फर्स्ट नाईट

नेहा नन्दिता मिश्रा

फर्स्ट नाईट
(392)
पाठक संख्या − 18346
पढ़िए

सारांश

कुछ शादियां ना लव होती है ना अरेंज ..बस हो जाती है ।
Rajesh Kumar
akhir mein ankhon mein kuchh dhundhlapan aa gaya !! chhoo kar dekha to , ankhein bhigi Hui thi !!!!
ललित बदरेल
दिल को छू गई । बहुत अच्छी
Mamta Upadhyay
खूबसूरत स्टोरी
Nancy Singh
so beautiful... accha hua k amogh ko nandini ka sacrifice samajh to aaya ni to log aksar shikayat na krne wale ki feeling ko samajhte hi ni hain...
shivani
very nice 👍👍
Pankaj Dahariya
बहुत ही सुंदर स्टोरी है
Vijay Kumar
बहुत ही सुंदर और खूबसूरत लेखन..... यही तो प्यार की खूबसूरती हैं....
राजेश सिन्हा
इस कहानी को पढ़कर चेहरे पर मुस्कान आ गई । बहुत खूबसूरत ।
Premlata Singh
कहानी वही लेकिन सोच नई
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.