प्रेम

ए. असफल

प्रेम
(17)
पाठक संख्या − 479
पढ़िए

सारांश

यह अजीब कैफियत थी। ऐसा तो कभी हुआ नहीं था। वह इस लड़की को प्रेम भी करता है! जो अब यहां इस वक्त नहीं है! क्या यही प्रेम है? वह इसे कब से खोज रहा था!
Anju Dixit
बहुत खूब
रिप्लाय
Pratibha Uttam Galphat
मार्मिक रचना।।।,,,😃
रिप्लाय
ख़ुदेजा
आत्मीय संबध की सशक्त कहानी। प्रेम को अलग अंदाज़ में प्रस्तुत करती।
रिप्लाय
Neelima Karaiya
बेहतरीन सृजन
रिप्लाय
Madhu Saxena
प्रेम आदमी में इंसानियत भर देता है । अच्छा आदमी बनाता है ।प्रेम ही है जो नफरत को नष्ट करता है ।बेहतरीन कहानी ।
रिप्लाय
Jyotsna Rajawat
बेहतरीन शिक्षाप्रद कहानीं, आपकी कहानियां पठनीय और संग्रहणीय हैं
रिप्लाय
डॉ. सरला सिंह
बहुत सुंदर शिक्षाप्रद कहानी।
रिप्लाय
अर्चना मिश्र
अच्छी कहानी।
रिप्लाय
ज्योति खरे
बहुत बढ़िया कहानी
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.