प्रतीक्षा

राजा सिंह

प्रतीक्षा
(103)
पाठक संख्या − 11164
पढ़िए
Axat Malik
गज़ब , प्रतीक्षा का भी अपना ही मज़ा है।
Uttam Singh
Khani achhi thi
रिप्लाय
Mithlesh Shrivastava
Nice
रिप्लाय
Anil Vaishnav
Ye बहुत हद tak meri कहनी है
रिप्लाय
आशुतोष रंजन
प्यार में कभी कुछ छिपाना नहीं चाहिए।सबकुछ पहले बता देना चाहिए
रिप्लाय
Sanjeev Kumar
झूठ की बुनियाद पर बने रिश्तों का अन्त यही है, लड़की का निर्णय सरहाणीय है, चित्रण अच्छा लगा,,,,,,
रिप्लाय
Rishikesh Kohale
good story
रिप्लाय
Archana Sahu
पता नहीं पुरूष ऐसा क्यूँ करते हैं।विश्वास घात।
Dilip Chaurasiya
मर्द जाति ऐसा ही बदनाम है औरत के लिए
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.