प्यार का एक रंग यह भी

सुधा आदेश

प्यार का एक रंग यह भी
(150)
पाठक संख्या − 10771
पढ़िए

सारांश

अभी वह कालेज से आई ही थी कि मोबाइल घनघना उठा...असमय सुजाता का फोन आया देखकर वह चौंकी थी । एक वही तो थी जिससे अपनी हर बात शेयर कर सकती थी...उससे अगर एक दिन भी बात न हो तो खाना ही हजम नहीं होता था । ...
Sakshi Chaudhary
कहने के लिए शब्द ही नहीं है .... 👌👌👌👌
रिप्लाय
Saurav Bhargav
vv heart touching
रिप्लाय
राजेश सिन्हा
दिल को छू लेने वाली कहानी। सही भी है प्यार तेरे हजारो रंग। 👍👍
रिप्लाय
Nikki Agrawal
extremely superb story....
रिप्लाय
Usha Garg
ओहो बस शब्द भी लगता है आँखो के पानी मे बह गए
रिप्लाय
Hemant Verma
एक अच्छी कहानी, पारिवारिक रिस्ते ऒर आपसी प्यार को दर्शाती।
रिप्लाय
shama malik
piyar to piyar hai
रिप्लाय
Brijbihari Singh
प्यार का यही अहसास जिंदगी को सुकून देता है
रिप्लाय
Akashkumar saini
good prem sada amar rahe prem ke bina koi jita nahi .prem ke bina koi amar nahi rahata mr jate h .😥😫😭😭😭
रिप्लाय
Pooja Yadav
bhut hi sunder kahani yhi to pyar h ek ho jana
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.