पिशाचों की बेटी ( भाग 5 )

Bhushan Patil

पिशाचों की बेटी ( भाग 5 )
(126)
पाठक संख्या − 3106
पढ़िए

सारांश

मिहिर ओर ऊर्वशी को यकीन नही हो रहा था। अचानक ये क्या हो गया था। अमित ऐसे कैसे कर सकता है। बिजलियां कड़कना रुक गयी थीं। अमित अब फिर साधारण बन गया था। अब उसको जवाब देना था कि वो कोन हे? मिहिर = अमित ये ...
sgsgdg shgdg
bahut hi acchi story
रिप्लाय
utkarsh anand
iska Baki part Kahan milega
रिप्लाय
A*J_ RAPER
nice
रिप्लाय
Shraddhaholic SK
Amazing ❤
रिप्लाय
Swapnali Bansode
👏👏👏
रिप्लाय
NISHA KADU
Wow it's superb keep it up
रिप्लाय
Monika Kumari
Khani acchi h
रिप्लाय
Anu J K Singh
nyc one..
रिप्लाय
Bhavii Hemant
abhi tak story best chl rahi h ...plzz jaldi se nxt part post kaijiye
रिप्लाय
Pooja Agnihotri
interesting
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.