परिचय

RAJANI GUPTA

परिचय
(8)
पाठक संख्या − 109
पढ़िए

सारांश

रात हूं मैं रात हूं , एक अकेली रात हूं । अमावस की रात कभी पूनम की रात हूं । मैं निशा , रजनी ,तमिस्रा ही भले हूं , और जरूरत के बिना भी संग चली हूं , चाह तुमको हो न मेरी, है जरूरत , बेजरूरत प्यार की ...
kshama
heart touching story
प्रदीप तिवारी
बहुत सुंदर
रिप्लाय
Sid Gupta
बेहतरीन !
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.