परिंदे...

अभिधा शर्मा

परिंदे...
(835)
पाठक संख्या − 21139
पढ़िए

सारांश

रोज़मर्रा के अपने काम में व्यस्त धरा ने बहुत बार रिंग होने पर कॉल रिसीव किया,दूसरी ओर से मयंक की आवाज़ आई- "मैंने तो सुना था कि सगाई के बाद लड़कियाँ सारा दिन अपने होने वाले पति को मिस कॉल देती हैं और ...
Deepak Kumar
ummed per duniya kayam h. bahut sunder rachna.
Adya
really kya likhte ho aap. har kahani me ek jwalnt mudda. i love this
Prateek Shukla
wah abhidha ji wah aapki sari kahaniya marmik hoti hai, aap bahut hi acha likhti hai. bhagwan aapko lambi umr de kam pade to meri bhi le le. aur aap aise hi likhti rahe...
Dr. Shilpa Sharma
heart touching truth.. Lekin rajniti krne walo ne sbko alg alg kr Dia..
Bibha Srivastava
प्रिय अविद्या जी परिंदे ,कहानी आपकी बहुत अच्छी है मै तो आप की फैन हो गई हूँ ।आपकी सोच और लेखन दोनो ही माएंड ब्लोइंग है।सच मे मज़ा आ गया
Vandana R.k. choubisa
bhot bedhiya. AAP sach me bhot acha likti he.
jitendr tiwari
आप पूरे कश्मीर की समस्या को जिस तरह कहानी के माध्यम से उकेरा है वो कबीले तारीफ है , कांग्रेस के सहयोग से जो कश्मीर जीता जगता नरक बन गया था आज मोदी सरकार उसे ठीक करने में लगी हुई है देखिए आगे क्या होता है।
Anjali B Verma
सच कहूं तो निशब्द हुं हृदयस्पर्शी कहानी है
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.