पराया इश्क़

विनीत शर्मा

पराया इश्क़
(751)
पाठक संख्या − 17693
पढ़िए

सारांश

प्यार भरे दिल मे नफरत आ जाने से क्या होता है, यही दर्शाती मेरी कहानी, कुछ प्रेरणा दे सके तो अपने लेखन को सार्थक समझूंगा।
Achiever's NEXT ERA
phli story jise pdhke main Sach me royi
Sonali Tarun Rattan Somali rattan
bohot hi achi story thi padh kar aasu aa gaya ye story likhne vale ko love you bohot sarrrra
रिप्लाय
Jyoti chauhan
very nice
रिप्लाय
Tripti Malhotra
Beautifully crafted.
रिप्लाय
Sunita Devi
ek schi story hai ye 👍 👍👍👍👍👍👍👍👍👍💝👏👌👏💝👌
रिप्लाय
Lovely Bhulani
Bahut achhi story h jo dil ko chhu gayi aapka bahut bahut shukriya is story ko likhne k liye
रिप्लाय
Jd Kkk
bhut hi khubsurat khani h mai abi tk ro rhi hu dil bhut udas h kuch sawal mai aj tk nhi dud payi thi apne pyar ko le kar but aj kuch sawal mujhe mile h jisko smjh kar dil ro rha h sukhriya bhut bhut aj dil alkua hua
रिप्लाय
आनन्द शर्मा
बहुत ही खूबसूरत कहानी है दिल को छू गई एक सच्चे प्रेम की तरह ही सच कहा है किसी ने प्रेम न जाने जात पात प्रेम न जाने कोई बंधन सच्चा प्रेम वही है जिसके दिल मे हो हर इंसान के लिए अभिनंदन
रिप्लाय
पवन गोगासर
जज्बात पिघल कर रह गए,,,, रिश्तों के दर्द बहुत कुछ कह गए,,,,, रोहन और वाहिदा के अनुपम रिश्ते त्याग औऱ तपस्या में ढह गए,,,,,, वाह , शानदार कथानक । बधाई ।।
रिप्लाय
Sheetal Khanna
bahut hi achi kahani hai....aankhe bhar aayi
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.