पटना वाला प्यार भाग - 2

अभिलाष दत्ता

पटना वाला प्यार भाग - 2
(134)
पाठक संख्या − 6930
पढ़िए

सारांश

पटना के प्यार का एक और रूप ....
Davinder Kumar
आपने प्रयोग अच्छे किए है
Sarvesh Kumar
सच में पटना छोड़ने का दर्द बहुत ज्यादा राहता है
रिप्लाय
Sudhir Kumar
larko ka jo 3 type h bilkul sahi bole ho bhai...mast story h ... students life ki...
रिप्लाय
Aveek Gupta
कहानी अगर दिल को छू जाए और अतीत की सैर पे ले जाये तो फिर रेटिंग्स मायने नही रखती। 5 से ज्यादा स्टार्स था नही।
K.k. Srivastava
कहानी अच्छी लगी... धन्यवाद
Nazim Nadvi
ghajab ki rachna h Bhai
Anil Baghel
saral lekhan story bahut achhi thi
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.