नाजुक सी डोर

सुनील आकाश

नाजुक सी डोर
(60)
पाठक संख्या − 16203
पढ़िए

सारांश

एक अजनबी युवक जब नन्दा के पीछे पड़ गया तो वह बहुत घबरा गई। मगर फिर दोनों में इतना पवित्र प्रेम हो गया कि बस...! कैसा था यह प्रेम ? क्या वे प्रेमी-प्रेमिका बने ? या दोस्त ? या फिर बहन-भाई ?
Ranjana Agarwal
beautiful story
रिप्लाय
DrDiwakar Sharma
सुँदर भावनात्मक अकल्पनीय कहानी।
रिप्लाय
Preeti Bhardwaj
kahani thodi si aage badhani chahiye thi nanda ke pati saral ka reaction kya raha is rishte par
रिप्लाय
Beena Awasthi
सुंदर कहानी।
रिप्लाय
Seema Bansal
nice story
रिप्लाय
Santosh Mishra
अच्छी कहानी
रिप्लाय
Rekha Singh
Very nice story.
रिप्लाय
Ragini Kanik
nice story
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.