नए वक़्त का प्यार

adarsh panne

नए वक़्त का प्यार
(1)
पाठक संख्या − 82
पढ़िए

सारांश

अब तो लिखने से इस कदर प्यार हो गया है कि जेहन में प्यार से प्यार को प्यार करने की बात सोचने तक की फुरसत नहीं मिलती।एक प्रेमिका या दोस्त का किरदार आखिर क्या है-मेरी सोच के अनुसार- सुख दुख का साथी। ...
Mariya Khan
nice
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.