☆ धर्मशाला ☆

SURYA RAWAT

☆ धर्मशाला ☆
(326)
पाठक संख्या − 23973
पढ़िए

सारांश

एक युवक की यात्रा के दौरान अनोखी प्रेम कहानी जो पहली बार...
Sonika Shukla
nice story
रिप्लाय
Dipti Biswas
शानदार।।।।
रिप्लाय
हेमंत यादव
रुचिकर कहानी है...सचचाई पर आधारित
Meena Bhatt.
सच लिखा है सूर्या आप ने सच है न इस लिए बहुत कड़वा है।औरत हूं इसलिए अंत में थोड़ी कसमसाहट हुई।लेकिन सच को तो स्वीकार करना ही है।ढेर सारी शुभकामनाओ के साथ।
मीनाक्षी भारद्वाज
बहुत शानदार लिखा है सर,,ओशो (रजनीश्) जी के बाद इस topic पर आपको पढ़ा है,, इतना बेबाकी से लिखते हुए,,,और सच ही लिखा है ।
रिप्लाय
दीपिका पाण्डेय
यथार्थ को पिरोती सारगर्भित मार्मिक रचना।लेखन शैली की अद्भुत परकाष्ठा।✍️🙂🙏🙏
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.