धनिया पूजा आई,पी,एस,

महेन्द्र सिंह

धनिया पूजा आई,पी,एस,
(250)
पाठक संख्या − 15167
पढ़िए

सारांश

"भगत ओ बाबू भगत"। "काहे आसमान सिर पर उठाये हो चौधरी।गांव में क्या बाढ़ आ गई जो इतना चीख रहे हो।" "बाढ गई भाड़ में।मैं यह कहने आया था कि त तेरी छोरी पूजा औऱ मेरी छोरी रूपा ने बारहवीं कक्षा अच्छे नंबरों ...
kashif shamsi
superb
रिप्लाय
Pooja Siingh
bahut hi sundar aur marmik
रिप्लाय
usha
superb
रिप्लाय
Brajesh Pandey
Great story
रिप्लाय
Atiya Sultana
Bahed acchi kahani shuru me padhkar rona b aya puja ki bebsi dekhkar laikn kahani ki aakhir me dil khush ho gaya
रिप्लाय
Pooja Jaglan
adorable story
रिप्लाय
Sushma Srivastava
very insprinctional story.
रिप्लाय
Nikita Abhimanyu
kuch waqt phle tak kumharo ki yahi soch thi..eant bhatte ki majduri tak
रिप्लाय
neeta
good story
रिप्लाय
Mamta
बहुत बढ़िया
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.